बिहार की बेटी पूजा भारती

आज हम जिनके बारे में बात करने जा रहे है उनका नाम पूजा भारती हैं। जिन्होंने IIT से इंजीनियरिंग के बाद खेती करने की ठानी। और आज ये बिहार के लिए एक मिसाल बन गई है बिहार की बेटी पूजा भारती। इस blog में आज दोस्तों हम बिहार की बेटी पूजा भारती के बारे में जानेंगे।

पूजा भारती बिहार के नालंदा के कंचनपुर गांव की रहने वाली है। IIT से पढ़ाई पूरी करने के बाद में इन्होंने गेल में नौकरी की। अच्छी नौकरी होने के बावजूद अपने नौकरी से कुछ ज्यादा संतुष्ट नहीं थी। फिर कुछ अलग करने की सोच से इन्होंने नौकरी को छोड़ दिया और वापस बिहार आ गई। गांव में आने के बाद पूजा भारती ने खेती करना शुरू कर दिया। अपने सपनो के साथ आगे बढ़ते हुए नए तकनीक के साथ आज खेती कर रही है और अपने किसान भाइयों को भी इसका लाभ दे रहीं है।

बिहार की बेटी पूजा भारती का शिक्षा सफर

बिहार की बेटी पूजा भारती की शुरुआती पढाई गांव के सरकारी स्कुल से शुरू हुई। गांव में शिक्षा के आभाव में इनकी इंग्लिश कमजोर थी। जैसा सभी बिहार वासियो के साथ होता है। आगे चलकर पूजा को अच्छे स्कूल में एडमिशन मिल गया।

शिक्षा आगे लेते हुए पूजा ने IIT की तैयारी पढ़ाई करना शुरू कर दिया। पूजा की तैयारी ने रंग लाया और IIT Kharagpur में पूजा को प्रवेश मिल गया। आईआईटी खड़गपुर से अपनी केमिकल इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद, उन्होंने गेल (इंडिया) लिमिटेड के विभिन्न विभागों में 6 साल तक सीनियर इंजीनियर (केमिकल) के रूप में काम किया।

पूजा के अमेरिका का सफर

पूजा ने पढ़ाई के साथ साथ खेल कूद में भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया। बास्केटबॉल में तो अपने कॉलेज का प्रतिनिधित्व भी उन्होंने किया। बाद में पूजा को इंटर्नशिप के लिए अमेरिका के वर्जीनिया कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटी में जाने का मौका मिल गया।

फिर उन्होंने नौकरी करने की सोची, और पूजा ने गेल (इंडिया) लिमिटेड join किया।

शहर से अपने गांव का सफर

गांव से ज्यादा लगाव होने के कारण पूजा ज्यादा दिनों तक नौकरी नहीं कर पाई और गांव में रह कर खेती करने का फैसला किया। फिर पूजा ने गेल जैसी अच्छी छोड़ दिया। खेती करने के लिए पूजा ने कृषि विशेषज्ञ दीपक सचदे से मिलकर खेती से जुड़े हुनर भी सीखे।

बिहार की बेटी पूजा भारती
बिहार की बेटी पूजा भारती

उधर नौकरी छोड़ने का फैसला सुन घर वाले इनके विरोधी बन गए और सभी समझाने में लग गए पर पूजा ने अपने निर्णय के साथ आगे बढ़ने का पैसला किया। फिर आस पास के टोका टाकी के कारण अपने गांव को छोड़ दिया। पर फैसला अटल था। इस लिए उन्होंने खेती करने के लिए उड़ीसा का चुनाव किया।

2015 में पूजा ने अपने Business Partner मनीष कुमार के साथ उड़ीसा के मयूरभंज जिले से अपना काम शुरू किया। अगले साल यानि 2016 में पूजा ने एक project की शुरुआत की जिसका नाम बैक टू विलेज रखा। शुरू के दिनों में उड़ीसा में उन्हें दिक्कत होती थी पर बाद में पूजा ने उड़िया सीख कर उसे भी दूर कर दिया। पूजा को जैविक खेती के समझ होने के बाद, उन्होंने लोगो को भी समझाना शुरू कर दिया। इससे लोगो को फायदा भी होना शुरू हो गया।

उन्नत कृषि केंद्र

पूजा अपने काम को आगे बढ़ाते हुए उन्नत कृषि केंद्र के नाम से जैविक फार्म सेंटर की शुरुआत किया। यह सेंटर मयूरभंज, पुरी और बालेश्वर में है। सेंटरो की संख्या 10 है और हरेक सेंटर से लगभग 500 किसान जुड़े है और जैविक खेती कर रहे है।

बिहार की बेटी पूजा भारती

Bihar Explore की पूरी टीम के तरफ से पूजा भारती की इस कामयाबी के लिए ढ़ेर सारी बधाइयाँ।

और भी बिहार का नाम रौशन करने वाले है जिनका लिंक नीचे दिया गया है –

Bihari Bollywood Actor Manoj Bajpayee

Bihari Actor Pankaj Tripathi From Hotel-to Big Screen/

बिहार Explore का यह blog आपको कैसा लगा आप हमें comment कर सकते है, अच्छा लगा तो like भी कर सकते है। हम फिर अगले ब्लॉग में आपसे कुछ नये topic पे बातें करेंगे तब तक के लिए धन्यवाद।

Note – Page Images source are facebook page B2V.Org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *